फावड़ा लेकर सड़कों के गड्ढे भरने में जुट गए फरीदाबाद ट्रैफिक पुलिस के जवान

फावड़ा लेकर सड़कों के गड्ढे भरने में जुट गए फरीदाबाद ट्रैफिक पुलिस के जवान

फरीदाबाद: डीसीपी ट्रैफिक नीतीश कुमार अग्रवाल के मार्गदर्शन में यातायात पुलिस बहुत बेहतरीन कार्य कर रही है। यात्रियों को आवागमन में कोई परेशानी ना आए इसके लिए पुलिस कर्मियों द्वारा भरसक प्रयास किए जा रहे हैं। इसी क्रम में एसएचओ ट्रैफिक दर्पण कुमार की टीम ने बल्लभगढ़ सोहना फ्लाईओवर में गड्ढों को भरकर यातायात पुलिसकर्मियों ने यात्रियों के आवागमन को ओर आसान बनाने का सराहनीय कार्य किया है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि बल्लभगढ़ से सोहना की तरफ जाते समय फ्लाईओवर पर काफी समय से गड्ढे हो रखे थे जिसकी वजह से यात्रियों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। गड्ढे होने की वजह से वाहन बहुत ही धीमी गति से फ्लाईओवर से होकर गुजरते थे जिसकी वजह से उनके पीछे आने वाले वाहन भी धीमें हो जाते थे और ट्रैफिक जाम की समस्या पैदा हो जाती थी। इसके अलावा गड्ढे होने की वजह से कुछ दुपहिया वाहन उसमें टकराकर क्षतिग्रस्त भी हो जाते थे जिसकी वजह से उन्हें जानी व माली नुकसान पहुंचता था। 

यातायात टीम में शामिल उप निरीक्षक बिनय कुमार, हवलदार हरबंस, होमगार्ड मोहन, नीरज, रोहताश, मोनू, प्रमोद, मलखान, राहुल तथा सुनील ने यात्रियों की समस्या को देखते हुए सड़क के गड्ढों को भरने का निश्चय किया। पुलिसकर्मियों ने शुक्रवार के दिन एक ट्रैक्टर ट्रॉली मंगवाई और बाटा चौक से ट्रॉली में मलवा भरवाकर पास की ही एक नर्सरी से कस्सि फावड़े का प्रबंध करके स्वयं ही मलबा सड़क पर डालने लगे। पुलिसकर्मियों ने कड़ी मशक्कत करते हुए काफी देर की मेहनत के पश्चात फ्लाईओवर पर मौजूद काफी गड्ढों को भर दिया। इसके 2 दिन पश्चात रविवार को पुलिसकर्मियों ने फिर से एक ट्रैक्टर बुलवाकर मलबा मंगवाया तथा बाकी बचे हुए गड्ढों को भी भर दिया। पुलिसकर्मियों की मेहनत रंग लाई और फ्लाईओवर के गड्ढे भर दिए गए। अब यात्री आसानी से आवागमन कर पाते हैं। यात्रियों का आवागमन सामान्य तरीके से शुरू हो चुका है जिसकी वजह से ट्रेफिक जाम की समस्या से भी निजात मिली है। डीसीपी ट्रैफिक ने पुलिसकर्मियों की कड़ी मशक्कत को देखते हुए उनके कार्य की सराहना की और शाबाशी देकर उन्हें इसी प्रकार सामाजिक कार्य तथा आमजन की भलाई करते रहने के लिए उन्हें प्रोत्साहित किया।

5

No Responses

Write a response