Faridabad: महिलाओं से छेड़छाड़ करने वाले 6 मनचलों को पुलिस ने पकड़ा

Faridabad: महिलाओं से छेड़छाड़ करने वाले 6 मनचलों को पुलिस ने पकड़ा

फरीदाबाद- पुलिस आयुक्त विकास कुमार अरोड़ा द्वारा महिला अपराध पर अंकुश लगाने के लिए शहर के विभिन्न स्थानों पर जागरूकता अभियान चलाकर नागरिकों के साथ-साथ छात्र छात्राओं को जागरूक करने के साथ ही महिलाओं के साथ साथ छेड़छाड़ करने वाले आरोपियों को सबक सिखाने के दिशा निर्देश के तहत कार्य करते हुए महिला पुलिस थाना सेंट्रल प्रभारी इंस्पेक्टर  गीत की टीम ने महिला विरुद्ध अपराध में सराहनीय कार्य करते हुए 6 मनचलों को काबू करके अच्छा सबक सिखाया है। 

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि काबू किए गए आरोपियों में फरीदाबाद के रहने वाले दीपाकर उर्फ दीपू, पंकज, आमिर, अंकुर, दुर्गेश,और आनंद के नाम का शामिल है। इन आरोपियों को सेंट्रल एरिया में स्थित टाउन पार्क सेक्टर 12, विद्यालय, पार्क आदि सार्वजनिक स्थानों पर महिला व छात्र छात्राओं से छेड़छाड़ करते हुए काबू किया गया है। कुछ मनचलों को मौके पर हिदायत लेकर तथा अपराध के बारे में सजा के प्रावधान के बारे में जागरूक किया है। 

पुलिस आयुक्त के निर्देशानुसार महिला पुलिसकर्मी सादी वर्दी में सार्वजनिक स्थानों पर मौजूद रहकर वहां पर छात्राओं या लड़कियों के साथ छेड़छाड़ करने वालों पर निगरानी रखती हैं। सादी वर्दी में तैनात इन महिला पुलिसकर्मियों से थोड़ी दूर पर ही दुर्गा शक्ति की टीम मौजूद रहती है। यदि कोई भी लड़का सादी वर्दी में मौजूद महिला पुलिसकर्मियों या किसी अन्य लड़की के साथ किसी भी प्रकार से छेड़छाड़ करता है, भद्दे कमेंट पास करता है या उनका पीछा करता है तो थोड़ी दूरी पर ही मौजूद दुर्गा शक्ति की टीम को इशारा करके मौके पर बुलाया जाता है और वहीं पर आरोपी को मौके से दबोच लिया जाता है। 

आरोपियों में ज्यादातर आवारा किस्म के लड़के या कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र शामिल होते हैं। इन्हें सबक सिखाने के लिए महिला पुलिस थाना सेंट्रल लाया गया जहां पर इनके परिजनों को भी मौके पर बुलाकर उनके लड़कों द्वारा की गई कारिस्तानी के बारे में उनके परिजनों को बताया गया जिससे वह बहुत अधिक शर्मिंदगी महसूस करने लगे तथा अपने द्वारा किए गए कृत्य के लिए माफी मांगने लगे। 

थाना प्रभारी ने समझाया कि आप जैसे लड़कों के वजह से लड़कियां घर से बाहर निकलने में कतराती हैं। आपकी इन तुच्छ हरकतों की वजह से ही महिलाएं अपने आप को असुरक्षित महसूस करती हैं तथा समाज में आगे बढ़ते हुए उनके कदम आप जैसे आवारा किस्म के लड़कों की वजह से पीछे हट जाते हैं। थाना प्रभारी ने इनके परिजनों को भी हिदायत दी कि वह अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दें तथा छात्र-छात्राओं, लड़कियों तथा महिलाओं का सम्मान करें। काबू किए गए इन मनचलों को भी कड़े शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा गया कि यदि इसके पश्चात यदि वह किसी भी प्रकार से महिला या लड़कियों को तंग करते पाए गए तो उनके खिलाफ कानून के तहत सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

3

No Responses

Write a response